राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष किसानों को खेती-किसानी के लिए दिया जाएगा 4600 करोड़ रूपए का ऋण
राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष किसानों को खेती-किसानी के लिए दिया जाएगा 4600 करोड़ रूपए का ऋण


खेती-किसानी के लिए 4600 करोड़ रूपए का ऋण

किसानों को खेती-किसानी कार्यों एवं उसमें लगने वाले खाद, बीज एवं कीटनाशक आदि खरीदने के लिए नगद रुपयों की आवशयकता होती है | पहले किसान इन कार्यों के लिए साहूकारों से अधिक ब्याज पर लोन लेते थे किसानों को साहूकारों के चक्करों से बचाने के लिए बहुत सी ऋण योजनाएं चलाई जा रही हैं | किसान इन योजना से कम ब्याज पर आसानी से लोन ले सकते हैं | सरकार हर वर्ष किसानों को ऋण उपलब्ध करवाने के लिए लक्ष्य रखती है इसके अनुसार ही किसानों को ऋण दिया जाता है | किसान यह ऋण किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से अल्पकालीन या दीर्घकालीन अवधि का ऋण ले सकते हैं | प्रत्येक वित्त वर्ष में ऋण की मात्रा राज्य सरकारों के द्वारा द्वारा अलग-अलग वहां की परिस्थितों के अनुसार होती है | छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने इस वर्ष खरीफ सीजन में किसानों को 4600 करोड़ रूपए का ऋण वितरण लक्ष्य रखा गया है।

राज्य के 15 लाख 3 हजार किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए

छतीसगढ़ के सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया कि इस साल खरीफ सीजन में किसानों को 4600 करोड़ रूपए का ऋण वितरण लक्ष्य रखा गया है। अब तक राज्य के 61 हजार 700 किसानों को खरीफ की खेती के लिए 215 करोड़ रूपए वितरित किया जा चुका है। राज्य के सहकारी बैंकों द्वारा 15 लाख 3 हजार किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किये गए हैं | यह ऋण किसान खरीफ एवं रबी फसलों के लिए ले सकते हैं |

रासायनिक खाद एवं प्रमाणित बीज का वितरण

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि खरीफ सीजन के लिए किसानों को अग्रिम रूप से खाद-बीज का उठाव करने के लिए प्रेरित किया जाए। खाद-बीज के अग्रिम उठाव से किसानों को ब्याज अनुदान का भी अधिक लाभ प्राप्त हो सकेगा तथा सीजन के समय में किसानों को दिक्कत नहीं होगी।  राज्य की 1333 सहकारी समितियों के माध्यम से रासायनिक खाद एवं प्रमाणित बीज का भंडारण एवं वितरण भी शुरू कर दिया गया है। खरीफ के लिए राज्य में 6 लाख 35 हजार मीट्रिक टन रासायनिक खाद के वितरण का लक्ष्य है जिसके विरूद्ध अब तक 3 लाख 63 हजार मीट्रिक टन खाद का भंडारण सहकारी संस्थाओं में किया जा चुका है, जो राज्य की मांग का 57.16 प्रतिशत है। राज्य में सहकारी समितियों के माध्यम से अब तक 33 हजार 343 टन रासायनिक खाद किसानों वितरित कर दी गई है। हकारी समितियों में अब तक विभिन्न प्रकार की फसलों के लिए 2 लाख 48 हजार 118 क्विंटल प्रमाणित बीज का भंडारण बीज निगम द्वारा किया गया है। प्रमाणित बीज का वितरण भी किसानों को शुरू कर दिया गया है। अब तक 23 हजार 320 क्विंटल बीज का उठाव किसानों ने किया है।

Tags: agriculture news, chhattisgarh krishi news, farmer help, farmer loan, govt. Scheme, govt. Scheme for farmers, kcc, kisan sahayta, latest news, Loan waiver, subsidy for farmers, ऋण सुबिधायें, ऋणमाफ़ी, किसान अनुदान, किसान क्रेडिट कार्ड, किसान पंजीयन, किसान लोन, किसान समाचार, किसान सलाह, किसान सहायता, किसानों के लिए योजनाएं, कृषि ऋण, कृषि लोन, छत्तीसगढ़ की ख़बरें, छत्तीसगढ़ की योजनायें, पशुपालन लोन